Ads

Breaking News

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए विधायकों को मिले यह मंत्री पद देखें!

                  कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए विधायकों को मिले यह मंत्री पद देखें!





देश में राजनीती उथल पुथल होती रहती है हाल ही में हुए गोवा में बुधवार को कांग्रेस के 15 में से 10 विधायक भाजपा में शामिल हो गए। सभी विधायक गुरुवार को मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ दिल्ली पहुंचे। वे यहां पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले!

वही गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने 4 मंत्रियों का इस्तीफा ले लिया था. इसमें गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के तीन और एक निर्दलीय विधायक थे. उप मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई, जल संसाधन मंत्री विनोद पालेकर, ग्रामीण विकास मंत्री जयेश सालगांवकर और राजस्व मंत्री रोहन खुंटे (निर्दलीय) को मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले तीन विधायक मंत्री बन गए हैं. विपक्ष के नेता रहे चंद्रकांत कावलेकर को डिप्टी सीएम बनाया गया है. इसके अलावा जेनिफर मोंसेरेट और फिलिप नेरी रोड्रिग्स को मंत्री बनाया गया है.





वाही सभी विधायको को 13 जुलाई को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई. इनके साथ ही विधानसभा के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले माइकल लोबो को भी मंत्री बनाया गया है. राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद प्रमोद सावंत ने सीएम पद संभाला था. गोवा में तीन महीने में यह दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार है.

गोवा के भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों में विधानसभा में विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर भी शामिल हैं। विधायकों के भाजपा में शामिल होने का कारण पूछे जाने पर सावंत ने कहा कि यह कदम पार्टी को मजबूत करने और जनहित के इरादे से उठाया गया है। पिछले तीन महीनों में मैंने महसूस किया कि राज्य के लोगों के हित प्रभावित हो रहे हैं। अब लोगों को कोई कष्ट नहीं होने दिया जाएगा। मेरी सरकार किसानों और आम लोगों के लिए है।




कांग्रेस के 10 बागी विधायकों के भाजपा में शामिल हो जाने से विधानसभा में कांग्रेस विधायकों की संख्या घटकर पांच रह गई है। भाजपा में शामिल कांग्रेस विधायकों में चंद्रकांत कावलेकर, ईसाडोर फर्नांडीस, फ्रांसिस सिलवैरा, फिलिप नेरी रोड्रिग्स, जेन्निफर, एंटासियो मोनसेरेट, एंटोनियो फर्नाडीस, नीलकंठ हलारंकर, क्लैफैसियो डायस और विल्फ्रेड डिसा है। वहीं, कांग्रेस में बचे विधायक पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत, ल्यूजिन्हो फलेरियो, रवि नायक, प्रताप सिंह राणे और एलेक्सियों रेगिनाल्डो हैं।
दोस्तों आप को क्या लगता है क्या कांग्रेस केविधायको ने सही किया या नहीं हमें कमेन्ट बॉक्स में ज़रूर बताएं